Arsh

Just another weblog

20 Posts

4 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 11616 postid : 811497

तेरी याद

Posted On: 3 Dec, 2014 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

अँखियाँ में पानी है , तेरी याद के साथ ,
ये तो बहुत छलकतीं है ,तेरी याद के बाद ,
अँखियों में ……………….
लगाती है रूहानी सी तेरी मेरी जो कहानी है ,
मिलती है घटायें जैसे सावन से बेजुबानी है
खो गया कहाँ खुद मेरे , मई हूँ उदास
अँखियों में ………………
खुद से उलझता हूँ , खुद से बातें करता हूँ ,
अब टॉप मिलान जरूरी है ,चाहत अधूरी है
खुद से करता हूँ ,अब ये इल्तजा , तो हो मेरे पास
अँखियों में पानी है तेरी …………………..



Tags:         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran